दोस्तो आपको पता होगा की आजकल ज्यादातर घर मे वेस्टर्न टॉयलेट का उयोग होने लगा है। लोगो को लगता है की ये बहुत आरामदायक है लेकिन आपको आज ये बात बहुत चौकाने वाली लगेगी की वेस्टर्न टॉयलेट सीट में बैठने का तरीका होता है,जी हा दोस्तो हम आपको बता दे की टॉयलेट सीट में भी बैठने का एक तरीका होता है। इस वेस्टर्न टॉयलेट में गलत तरीके से बैठने से करना पड़ सकता है बहुत सारी परेशानियो का सामना जबकि इंडियन टॉयलेट में उकडू करके बैठना पड़ता है लेकिन दोस्तो उकडू करके बैठना ही हमारे लिये बहुत लाभदायक है।
 
Indian toilet , indian toilet good position
 

इंडियन टॉयलेट सीट में उकडू तरीके से बैठने से फायदे

जब हम इंडियन टॉयलेट में उकडू तरीके से  बैठते है तो जिससे गूदा नलिका बिल्कुल अच्छे पोजीशन पे होती है।जिससे हमें मल त्यागने में कोई परेशानी नही होती है और हमारा पेट बिल्कुल पूरी तरीके से साफ हो जाता है। हमारे पेट से संबंधित परेशानियां बिल्कुल न के बराबर होती है।
 
 

वेस्टर्न टॉयलेट सीट है एक बीमारी की जड़-

 
हा दोस्तों ये बात बिल्कुल सच है की वेस्टर्न टॉयलेट सीट एक बीमारी की जड़ से कम नही है क्योंकि दोस्तो हर कोई एक दिन में कम से कम दो बार टॉयलेट सीट में बैठता है। इस टॉयलेट में हम सीधे होकर आराम से पीछे लधार लगकर  बैठते है। जिससे हमारी गूदा नलिका 90° अंश के कोण पे होती है और ऐसे मल त्याग करने में हमारे नसों में सूजन का होना व दिल की धड़कन बढ़ने का बहुत डर रहता है।दोस्तो अच्छा होगा की आप इंडियन टॉयलेट का उपयोग करे।
Way to sit in the toilet
 

वेस्टर्न टॉयलेट सीट में बैठने का तरीका-

दोस्तो अगर फिर भी आप वेस्टर्न टॉयलेट का उपयोग करना चाहते है तो आप टॉयलेट सीट में बैठने वक्त अपने पैरों के नीचे एक छोटे साइज का  स्टूल रख ले,जिससे आपके पेट और पैरों की स्थिति लगभग 35° हो जाये ऐसे आप होने वाले तकलीफो से बच सकते है ।
How to Shit in toilet sheet, western toilet sheet
 
वेस्टर्न टॉयलेट का उपयोग करने से बवासीर जैसी बीमारी का सामना करना पड़ सकता है ,इस तरह की बीमारीयो  से बचने के लिए डॉक्टर भी हमेशा इंडियन टॉयलेट को इस्तेमाल करने की सलाह देते है। इसलिए दोस्तों आरामदायक  टॉयलेट सीट से अच्छा उकड़ू होकर बैठने वाला इंडियन टॉयलेट सीट ही अच्छा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here